Personality
श्री शिवराज सिंह चौहान शिवराज सिंह चौहान का जीवन परिचय भारतीय जनता पार्टी के सदस्य और मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जन्म 5 मार्च, 1959 को सिहोर, मध्य-प्रदेश में हुआ था. शिवराज सिंह ने बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी, भोपाल से गोल्ड मेडल के साथ दर्शनशास्त्र में स्नातकोत्तर की उपाधि ग्रहण की. शिवराज सिंह चौहान के परिवार में उनकी पत्नी साधना और दो पुत्र हैं. ..............View more..
श्री शिवराज सिंह चौहान

शिवराज सिंह चौहान का जीवन परिचय

भारतीय जनता पार्टी के सदस्य और मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जन्म 5 मार्च, 1959 को सिहोर, मध्य-प्रदेश में हुआ था. शिवराज सिंह ने बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी, भोपाल से गोल्ड मेडल के साथ दर्शनशास्त्र में स्नातकोत्तर की उपाधि ग्रहण की. शिवराज सिंह चौहान के परिवार में उनकी पत्नी साधना और दो पुत्र हैं.

 

 

 

 


शिवराज सिंह चौहान का व्यक्तित्व

शिवराज सिंह चौहान मानवीय स्वभाव वाले व्यक्ति हैं. समय-समय पर वह निर्धन और असहाय लोगों के लिए कार्य करते रहते हैं. अनुसूचित जातियों के उत्थान के लिए वह हमेशा प्रयासरत रहते हैं. इन सब विशेषताओं के अलावा शिवराज सिंह एक मंझे हुए राजनेता और वक्ता भी हैं.

 


शिवराज सिंह चौहान का राजनैतिक सफर

वर्ष 1972 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सदस्यता ग्रहण करने के साथ शिवराज सिंह चौहान ने राजनीति में कदम रख दिया था. वर्ष 1975 में शिवराज सिंह चौहान मॉडल हायर सेकेंड्री स्कूल के अध्यक्ष भी रहे. आपातकाल के विरोध में शिवराज सिंह चौहान 1976-1977 तक सक्रिय तौर पर कार्य करते रहे. इस दौरान उन्हें जेल भी जाना पड़ा. वह वर्ष 1990 में हुए विधानसभा चुनावों में बुद्धनी निर्वाचन क्षेत्र से विजयी हुए. अगले ही वर्ष 1991 में विदिशा से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद वह पहली बार सांसद बने. 1996 में इसी सीट से दोबारा चुनाव जीतने के बद उन्हें शहरी और ग्रामीण विकास के लिए गठित समिति और सलाहकार समिति का सदस्य बनाया गया. वर्ष 1997-1998 में वह मध्य-प्रदेश बीजेपी के महासचिव भी बने. वर्ष 1998 में वह एक बार फिर विदिशा से जीतने के बाद लोकसभा पहुंचे. उन्हें शहरी और ग्रामीण विकास समिति और उसकी उप-समिति ग्रामीण क्षेत्र और रोजगार मंत्रालय का सदस्य बनाया गया. वर्ष 1999 में लोकसभा में चौथे कार्यकाल के दौरान शिवराज सिंह को कृषि संबंधी समिति और सरकारी उपक्रमों के लिए गठित समिति का सदस्य बनाया गया. 2000-2003 तक शिवराज सिंह चौहान भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चे के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे. इसके अलावा वह लोकसभा की गृह समिति के चेयरमैन और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव भी बनाए गए. वर्ष 2004 में पांचवी बार वह लोकसभा के लिए चयनित हुए. उन्होंने लोकसभा की सदन समिति और आचार समिति की अध्यक्षता भी की.

 


राष्ट्रीय स्तर के बीजेपी अध्यक्ष रहते हुए उन्हें वर्ष 2005 में मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया. वर्ष 2008 के चुनावों के बाद भी वह इस पद पर कायम रहे.

 


इन सभी पदों के अलावा शिवराज सिंह चौहान ने निम्नलिखित पदों पर भी अपनी सेवाएं दी हैं:


  • अखिल भारतीय केसरिया वाहिनी के संयोजक (1991-1992)

 

  • श्रम और कल्याण से संबंधित समिति के सदस्य (1993-1996)

 

  • हिंदी सलाहकार सामिति के सदस्य(1994-1996)

 

संगीत और फिल्मों में दिलचस्पी रखने वाले मध्य-प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आध्यात्मिक साहित्य, विभिन्न मुद्दों पर वाद-विवाद और चर्चा करने में रुचि रखते हैं. इसके अलावा वह समाज सेवा में भी सक्रिय हैं. समय-समय पर वह सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन करते रहते हैं. राज्य की गरीब और अनाथ लड़कियों का विवाह कराना भी वह अपना दायित्व समझते हैं.

 


National
बॉलीवुड को चपेट में लेने वाले "मी टू" अभियान के तहत संगीतकार अनु मलिक पर द...
National
: CBI ने स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ FIR दर्ज की है. सूत्रों का...
National
पेट्रोल और डीजल के दामों ने एक बार फिर आम आदमी को राहत दी है. रविवार को लगा...
National
शिमरोन हेटमायर के शतक (106) और किरोन पॉवेल की फिफ्टी (51) से वेस्टइंडीज ने ...


coppyright © 2018 News View Promoted by : SiddhTech IT Solutions
news hindi
Designing & Development by SWA